ब्रॉडबैंड क्या है, कैसे काम करता है|What is Broadband in Hindi|

आजकल हर कोई fast speed में internet को access करना चाहता है इसी कारण Broadband का नाम हम हर तरफ सुनते जैसे की हम किसी दोस्त के घर जाते है तो वो बोलता है मैंने कल हि ब्रॉडबैड setup करवाया है या किसी school, college या हॉस्पिटल मे जाते है और internet के source के बारे मे पूछते है तो वो जरूर आपको broadband के बारे में बतायेगा। तब हमारे दिमाग़ मे ये सवाल जरूर आता है की ये broadband kya hai (what is broadband in hindi)।

Broadband term यह high speed internet access को दर्शाता है। Broadband पुरानी तकनीक dial up से ज्यादा speed मे internet मुहैया करता है। Broadband उन लोगों के लिए काफ़ी फायदेमंद है जो की कम क़ीमत मे बेहतर internet facility की कामना रखते है।

Broadband के कुछ फायदा होने के साथ नुकसान भी होता है जैसे की broadband को आप एकजगह से दूसरी जगह नहीं ले जा सकते और भी बहुत कुछ disadvantages है जो की हम आगे जानेंगे। इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद आपको broadband kya hai (what is broadband in hindi) क्या होता है यह सवाल फिर कभी नहीं सतायेगा।

अनुक्रम

broadband kya hai (what is broadband in hindi)

broadband kya hai » what is broadband in hindi मे Broadband का full form है Broad bandwidth। Broadband में wide band की frequencies की मदद से information को transmit किया जाता है।

Broadband का connection हमेशा On हि होता है क्योंकि जिसकी वजह से logout होने के बाद connect होने में समय नहीं लगता और delay time भी कम हो जाता है। Broadband अपना internet data को भेजनें के लिए multiple network का इस्तेमाल करता है जिसको वजह से data काफ़ी fast send होता है।

जैसे की broadband में wide data frequencies होती है जिसकी वजह से information को multiplexed किया जाता है और band की अलग अलग frequencies से एक साथ भेजा जाता है जिसकी वजह से कम समय में ज्यादा से ज्यादा information एक साथ भेजी जाती है। उदाहरण के लिए रास्तो मे जितने ज्यादा lanes होंगे उतनी ज्यादा गाड़िया एक साथ एक जगह से दूसरी जगह travel कर सकती है।

ब्रॉडबैंड के प्रकार । broadband types in hindi

Broadband के कई सारे महत्वपूर्ण प्रकार है है जिनकी मदद से आप अपने घर, college या अपने business point पर internet connection का आनंद उठा सकते है। broadband के कौन कौन से प्रकार है इसका जवाब इस broadband kya hai « what is broadband in hindi लेख मे दिया गया गया है।

Broadband के प्रकार कुछ इस प्रकार के है

  • DSL
  • Cable modem
  • Wireless
  • Fiber optics
  • Satellite
  • Broadband over power line

DSL क्या है? | DSL kya hai in hindi

ब्रॉडबैंड का पहला प्रकार है DSL यानी digital subscriber line।DSL एक data transmission की technique है जिसमे पुराने copper telephone लाइनों पर पहले से मौजूद घरों और business में तेजी से data transmit करने के लिए होता है।

DSL का full form है Digital Subscriber Line। DSL service को telephone service के साथ इस्तेमाल किया जाता है जिसकी वजह से DSL data transmission के लिए higher frequency band का इस्तेमाल करता है।

DSL का bit rate की range 256 kbit/s से 100 Mbit/s के बिच है यह speed downstream के लिए है। कुछ अच्छे लाइन condition मे और service level implementation मे यह speed 1 Gbits/s भी दर्ज की गई है।

ADSL Low Pass Filter का इस्तेमाल करके आप internet data और voice के high frequency interference को रोका जा सकता है जिससे की एक साथ internet data और voice call का उपयोग करने मे कोई दिक्कत ना हो।

DSL के मुख्यतः दो प्रकार है जो की कुछ इस प्रकार के है।

  • ADSL – Asymmetric Digital Subscriber Line
  • SDSL- Symmetrical Digital Subscriber Line

ADSL kya hai? ADSL की जानकारी

आजकल fibers की मदद से fastest internet को हम access कर पाते है फिर भी ADSL लोगों को पसंद है इसका कारण है इसकी flexibility।

ADSL एक Digital Subscriber Line का प्रकार है जिसमे A से Asymmetrical होता है। इस DSL के प्रकार मे fast rate में download facilities उपलब्ध होती है। ADSL ने पुराने modem, जो की नब्बे के दशक मे प्रचलित हुआ करते थे को replace किया है। आज भी ADSL का भारी मात्रा मे उपयोग होता है जो की इसकी विशेशता और लोकप्रियता बताने के लिए काफी है।

ADSL के मुख्यतः दो प्रकार होते है ADSL1 और ADSL2+ (जो की ADSL1 से थोड़ा fast होता है)। ADSL मे highest internet का speed 12 mb/sec होता है वही ADSL 2+ में internet speed दुगना यानि लगभग 24 mb/sec होता है।

ADSL प्रणाली मुख्यतः उन लोगों के लिए बनी है ज्यादा data recieve करते है मगर कम data send करते है। उदाहरण के लिए अगर आपको internet से movies या अन्य कोई content download करके देखना पसंद है तो ADSL आपके लिए उपयुक्त है।

ADSL आपको fastest rate मे down streaming की सुविधा मुहया करता है वही up stream में ADSL का speed कम होता है यह इसलिए होता है क्योंकि ADSL उसी लाइन मे data को send करता है जो की voice service मे use होती है।

SDSL kya hai | what is SDSL in hindi

SDSL का full form है Symmetrical Digital Subscriber Line यानि SDSL में download और upload का speed समान हि होता है। SDSL का उपयोग मुख्य रूप से उन लोगों के लिए होता है जो college के लिए, office meeting या अन्य कारणों के लिए video conferences का उपयोग करते है।SDSL मे up stream और downstream speed एक समान होता है।

Business के लिए उपयोग मे आने वाले SDSL के Faster form कुछ इस प्रकार के है –

  • HDSL – High data speed rate DSL
  • VDSL – Very high data speed rate DSL

Cable modem क्या है |What is cable modem in hindi

Cable modem एक hardware device है जो computer को cable connection की मदद से internet को जोड़ने मे मदद करता है। cable modem में data speed बहुत हि vary होता है यह data speed उपभोक्ताओं के नंबर पर depend करता है। Cable modem मे वही infrastructure का उपयोग होता है जो को Television programming मे होता है

अगर किसी विशेष भौगोलिक प्रदेश में एक साथ कई यूजर Cable modem की मदद से internet का उपयोग करते है तो internet के speed में काफी गिरावट दिखाई देती है। उदाहरण के लिए उपभोक्ताओं की संख्या सुबह और शाम के समय काफी मारा मे बढ़ जाती है तो internet के speed में गिरावट देखने को मिल जाती है।

Cable modem का प्रयोग करने के लिए Coxial cable और Cat 5 cord का उपयोग होता है जो की computer मे internet प्रदान करने के लिए उपयुक्त है। कई modem मे WiFi की मदद से internet प्रदान करने की सुविधा होती है।अगर आपके एक हि coxial cable connection है और एक हि One Cat 5 कनेक्शन है तो आपको internet share करने के लिए Router की जरूरत पड़ेगी।

Cable modem मे प्राय दो प्रकार के connection होते है एक है Cable Outlet का और दूसरा है Computer मे। चुंकि Cable modem एक external device है इसमें internet का speed DSL से ज्यादा पाया गया है । आप बस Computer को On करते हि cable modem से connect हो जाते है साथ हि आप Internet के उपयोग के साथ Cable TV भी देख सकते है।

Wireless ब्रॉडबैंड क्या है | what is wireless broadband in hindi

Wireless broadband एक ऐसी technology है जिसकी मदद से high speed internet data को wireless network के तरिके से send किया जाता है। Wireless broadband ko wireless local area networks (WLANs) or wide area networks (WWANs) की मदद से send किया जाता है।

Mobile broadband के मुख्यतः दो प्रकार है – Fixed और mobile। fixed broadband connection मे कुछ fixed locations से हि internet access किया जाता है जैसे की office हो गया या घर हो गया। वही mobile प्रकार मे random location से internet को access किया जाता है।

High speed internet जो की wireless तरिके से serve किया जाता है उसे wireless internet, broadband wireless या cellular internet भी कहा जाता है। Wireless internet का उपयोग काफी उपभोक्ताओं तक एक साथ internet service provide करने के लिए होता है।

Wifi और Wireless internet मे काफी अंतर होता है मुख्य अंतर यह है की Wifi मे connection ज्यादा Secure नहीं होता वही Wireless broadband में connection काफी हद तक secure होता है। जहाँ Wireless internet मे connection को हम कही पे भी नहीं ले जा सकते वही pocket wifi की मदद से हम कई पर भी internet का लुप्त उठा सकते है।

Fiber optics kya hai |What is fiber optics in hindi

Fiber optics का उपयोग high speed data के लिए होता है। fiber optics के प्रयोग के लिए प्रथमता electric signals को light मे convert किया जाता है। यह light का प्रयोग data carry करने मे होता है। फिर उस light को transparent glass से पास किया जाता है जिसकी diameter 125 micron या तकरीबन human hair के बराबर होती है ।

Fiber optics काफी ज्यादा speed मे internet send करता है जो की modem या DSL के तुलना मे दस से सौ गुना ज्यादा अधिक mb/s speed हो सकता है । यह कहा जा सकता है की Fiber optics यह cable modem या DSL से दस गुना ज्यादा बेहतरीन है।

Fiber optics का speed कई factors पर depend करता है जैसे की आपका घर internet provider से कितनी दुरी पर है? आपके device का speed कैसा है? और भी बहुत कुछ। मुख्य अंतर यह है की optical fiber बाकि broadband के प्रकारों जैसा electric current का इस्तेमाल नहीं करता बल्कि यह data send करने के लिए light का सहारा लेता है।

Satellite ब्रॉडबैंड क्या होता है | what is satellite broadband in hindi

अगर आप गाँव मे रहते हो या हमेशा घर पर नहीं रह सकते, घूमने के आदि हो या आपके area मे cable से broadband पहुंचाने मे दिक्कत होती है तो आप इस्तेमाल कर सकते है satellite broadband का। Satellite broadband यह Satellite TV के principle पर चलता है पर आप Satellite TV मे सिर्फ data recieve करते है वही आप Satellite broadband मे data send भी कर सकते है।

Satellite broadband का अत्यंत मुख्य फायदा यह है की यह दुनिया मे कही से भी access किया जा सकता है क्योंकि इस internet का उपयोग satellite की मदद से किया जाता है।Satellite broadband मे internet speed 2 mb/s से 20 mb/s तक हो सकता है जो की काफी internet activities के लिए पर्याप्त है। Satellite broadband मे ADSL से ज्यादा speed में internet speed होता है।

Satellite broadband मे speed बहुत कम ज्यादा होता है इसलिए अगर आप video games खेल रहे हो या video call कर रहे हो तो आपको satellite broadband की वजह से दिक्कत का सामना करना पड़ेगा। जिस online कामों मे ज्यादा internet speed की जरूरत होती है उस कामों को करने मे satellite internet दिक्कत उत्पन्न करता है।

Broadband over power line kya hai| What is broadband over power line in hindi

broadband kya hai • what is broadband in hindi मे Broadband over power line (BPL)का मतलब है बिजली की तारों की मदद से internet data को transmit करना। BPL के उपयोग से internet data को transmit करने के लिए high frequency का उपयोग होता है। BPL में उसी frequency का उपयोग होता है जो की Over Air Communication system मे उपयोग होता है।

BPL की मदद से componies के monitor को power देने के साथ साथ internet प्रदान करने का भी काम होता है। यह इसलिए मुमकिन हो पाता है क्योंकि electric current और radio signal अलग अलग frequencies मे oscillate होता है । और बिना एक दूसरे को disturb किए internet data transmission का और electric current transmission का काम एकसाथ होता है ।

अगर BPL के speed की बात करी जाए तो BPL का speed आम तौर पर Cable modem या DSL के speed के बराबर होता है। BPL धीरे धीरे विकसित हो रहा है इस कारण यह अभी काफी कम जगहों पर उपलब्ध है। BPL से internet प्रदान करने मे ज्यादा दिक्कत नहीं होती क्योंकि इस तरिके मे internet प्रदान करने के लिए Current outlet की सहायता लिई जाती है।

ब्रॉडबैंड के फायदे | Advantages of broadband in hindi

broadband kya hai (what is broadband in hindi) को जानने के लिए हमें ब्रॉडबैंड के फायदे को जानना बहुत ही जरूरी है ब्रॉडबैंड के बहुत सारे फायदे हैं उनमें से कुछ महत्वपूर्ण फायदे कुछ ऐसे हैं —

  • Speed

Broadband में काफी ज्यादा speed का अनुभव मिलता है जो की upload, download और browsing मे काम आता है। Dial up की तरह broadband के speed मे बदलाव नहीं आता। broadband का speed लगभग same हि रहता है। अधिकतर broadband का speed 200 KB /s से ज्यादा हि देखा गया है पर यह speed उपभोक्ता के plan और अलग अलग devices मे अलग अलग हो सकता है।

  • Phone के साथ साथ internet connection

Broadband के सिवा phone के साथ internet connection मुहहया करना मुमकिन हि नहीं है। Dial up या किसी अन्य internet provider के लिए यह काम करने के लिए अलग अलग cable की जरूरत पड़ती वही broadband मे यह काम एक हि cable की मदद से हो पाता है।

  • Wired और wireless दोनों devices के लिए उपयुक्त

Wired devices के लिए आप cable modem या BPL का इस्तेमाल कर सकते है वही wireless devices के लिए Wireless broadband या router की सहायता ले सकते है। इस प्रकार broadband का उपयोग wired और wireless devices मे होता है।

  • भरोसेमंद internet connection

Internet के ज्यादा इस्तेमाल से data transmission मे lag या break हो सकता है मगर broadband के उपभोक्ता इस तकलीफ से अनजान होते है इसका कारण है stable और continues connection। Broadband का internet connection भरोसेमंद होता है यही कारण है कई महत्वपूर्ण जगहों पर broadband का उपस्थित होना।

  • कम Rate

अगर हम fixed और mobile broadband पर नजर डाले तो हम पाएंगे की fixed broadband यह mobile broadband से काफी सस्ते होते है। साथ हि broadband provider समय समय पर अच्छे अच्छे offer देते रहते है जिसकी वजह से ज्यादा speed और fun का लुफ्त उठाया जा सकता है।

ब्रॉडबैंड के नुकसान क्या है |disadvantages of broadband in हिंदी

जिस प्रकार ब्रॉडबैंड से बहुत सारे फायदे होते हैं उसी प्रकार उसके थोड़े बहुत नुकसान भी है। जैसे हर एक उपयुक्त चीज का कोई ना कोई bad effect होता है उसी प्रकार ब्रॉडबैंड के भी कुछ नुकसान है और वह है –

  • Speedy connection के लिए ज्यादा कीमत

अगर broadband के लिए speedy connection लेते है तो dial up की तुलना मे हमें ज्यादा पैसे चुकाने पडेगे। यह पैसे कम करने का एक तरीका है और वह यह है की अगर हमने phone की लिए अलग से केबल connection लिया है तो उसको cancel करना।

  • Security issue

जैसे की हम जानते है की broadband connection 24/7 On हि रहते है तो किसीको computer access करने मे आसानी होती है और computer में Security issue पाए जाते है।

  • Connection को switch करने मे समस्या

अगर आप broadband connection को switch करना चाहते है तो आपको technical समस्याओं के चलते समय लग सकता है साथ हि आपसे engineer’s charge भी लिया जा सकता है। यह उन लोगों के लिए दिक्कत साबित हो सकती है जो रोज broadband के उपयोग के आदि है।

  • Line का rental charge

अगर आप सिर्फ broadband का उपयोग करते है और phone आपके किसीको काम का नही है फिर भी आपको line का rental charge भरना पड़ेगा जो एक बड़ी समस्या है।

  • Competition

जैसे की आज India मे 4G का जमाना है और इस कारण काफी लोग mobile broadband की तरफ आकर्षित हो रहे है आगे अगर 5G India मे launch हो गया तो speed के मामले मे mobile और fixed broadband मे कांटे की टकर होगी।

हम broadband हि क्यों ले?

Broadband के dial up या अन्य internet provider पर काफी Advantages है उनमे से मुख्य advantage है speed का। broadband का speed यह dial up से काफी ज्यादा होता है। broadband मे wide range की frequency की मदद से high speed data को send किया जाता है इससे upload, download और browsing का speed बढ़ जाता है।

Broadband कई तरह की सुविधाएं मुहया करता है इनमें से एक है mobile और fixed broadband की सुविधा। mobile broadband की मदद से हम internet को दुनिया मे कही से भी access कर सकते है वही fixed broadband का उपयोग office या घर पर internet supply करने के लिए होता है। fixed broadband मे internet speed काफी ज्यादा होता है mobile broadband की तुलना मे। broadband kya hai (what is broadband in hindi) के फायदे बहुत हि ज्यादा है।

Broadband खरीदने के समय कौनसी बातों का ख्याल रखे? एक अच्छा ब्रॉडबैंड कैसे खरीदें?

broadband kya hai ♪ what is broadband in hindi को जानने के लिए हमें एक अच्छा ब्रॉडबैंड कैसे खरीदें यह जानना जरूरी है -Broadband खरीदने के समय काफी बातों का ख्याल रखना पड़ता है उनमे से कुछ मुख्य points कुछ इस प्रकार है-

  • Wire का प्रकार (fiber wire v/s copper wire)

India मे काफी broadband connection मे copper wire का इस्तेमाल किया जाता है। मगर copper के साथ एक प्रॉब्लम है की इसमें internet speed मे काफी बदलाव होता है इसी समस्या के समाधान के लिए fiber wire का इस्तेमाल किया जाता है। fiber wire की मदद high speed data को constant speed मे send किया जाता है।

  • Broadband का usage limit

India में fair use policy के अंतर्गत unlimited internet plan में internet दिया जाता है इसमें आपको यह देखना पड़ता है की सिर्फ upload या download internet मुफ्त मे है या फिर दोनों मुफ्त है क्योंकि यह चीज Internet Service Provider के साथ बदल जाती है। इस कारण internet plan के बारे मे पूरी जानकारी प्राप्त करे तभी कोई service ले।

  • Contention ratio

Contention ratio मतलब fixed broadband की एक हि line में कितने उपभोक्ता है। मतलब एक हि line मे ज्यादा उपभोक्ता हो तो contention ratio ज्यादा और अगर उपभोक्ता कम तो contention ratio कम। जितना ज्यादा contention ratio उतना कम internet speed per user। इसलिए कौन सा भी broadband connection लेने से पहले Contention ratio के बारे मे जानकारी जरूर प्राप्त करे।

इंटरनेट ब्रॉडबैंड और लैंडलाइन को एक साथ Active रखने वाले उपकरण का नाम –

अगर हमें कभी भी इंटरनेट और लैंडलाइन को एक साथ जोड़ना हो या एक साथ इस्तेमाल करना हो तो इसके लिए हम ASDL फिल्टर का इस्तेमाल कर सकते हैं। ASDL फिल्टर लैंडलाइन और इंटरनेट ब्रॉडबैंड को एक साथ Active रखने वाला डिवाइस है।

इस फिल्टर के माध्यम से हम ध्वनि के और इंटरनेट के सिग्नल को अलग अलग रखकर दोनों का इस्तेमाल एक साथ कर सकते हैं।

सबसे ज्यादा पूछे गए प्रश्न –

ब्रॉडबैंड क्या है?

Broadband term यह ज्यादा गति वाली internet की क्षमता को दर्शाता है। Broadband पुरानी तकनीक dial up से ज्यादा speed मे internet मुहैया करता है। Broadband उन लोगों के लिए बहुत ज्यादा उपयुक्त है जिन्हें कम budget मे अच्छे इंटरनेट कनेक्शन की कामना होती है ।

ब्रॉडबैंड की खोज किसने की?

सन 1990 की शुरुआत में ब्रिटिश संगणक तंत्रज्ञ टीम बर्नर्स ली ने ब्रॉडबैंड की खोज की।

ब्रॉडबैंड के कौन-कौन से मुख्य प्रकार है?

ब्रॉडबैंड के मुख्य प्रकार है – DSL, wireless broadband, cable modem, satellite broadband और fibre optics।

ब्रॉडबैंड के फायदे क्या है?

ब्रॉडबैंड के कुछ मुख्य फायदे इस प्रकार है – जलद इंटरनेट गति, लैंडलाइन के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं, घरेलू या ऑफिस के उपयोग के लिए सर्वोत्तम, भरोसेमंद इंटरनेट कनेक्शन इत्यादि।

भारत में सर्वोत्तम ब्रॉडबैंड प्रदाता कंपनी कौन-कौन सी है?

भारत में कुछ सबसे बेहतर ब्रॉडबैंड प्रदाता कंपनी है –
1. Airtel
2. Jio
3.BSNL
4. Vodafone Idea
5. MTNL
6. ACT fibernet
7. You broadband

ब्रॉडबैंड के transmission में कौन सी cable इस्तेमाल होती है?

ब्रॉडबैंड के ट्रांसमिशन ने मुख्यतः तीन प्रकार की केबल इस्तेमाल होती है –
1. Coaxial cable
2. Twist pair cable
3. Fibre optic cable .
इन केबल के अलावा भी ब्रॉडबैंड का transmission होता है और वह होता है वायरलेस सेटेलाइट के जरिए।

सारांश / Conclusion

इस लेख मे हमने जाना की broadband kya hai , what is broadband in hindi, broadband के प्रकार, Broadband के advantages और disadvantages इत्यादि। हमारा यह मानना है की जो भी जानकारी दो वो पूरी दो जिससे की reader को किसी दूसरे लेख का संदर्भ भी ना लेना पड़े। हम एक हि लेख नं पूरी जानकारी मुहया करने मे यकीन रखते है।

अगर आपको broadband kya hai • what is broadband in hindi लेख पढ़ते समय किसी भी प्रकार का सवाल या दिक्कत उत्पन्न होती है तो आप बेझिझक comment करे। हमें आपकी मदद करके काफी आनंद होगा। किसी महत्वपूर्ण point पर यदि हमारी नजर नहीं पड़ी और आपको वह point मालूम है तो please comment करके हमें सूचित करे। आपकी हर एक छोटी मोटी सुचना स्वीकार्य है।

धन्यवाद।

1 thought on “ब्रॉडबैंड क्या है, कैसे काम करता है|What is Broadband in Hindi|”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *